गुजरात : ज़हरीली गैस लीक, दम घुटने से 6 मज़दूरों की मौत

0 34


गुजरात के शहर सूरत में 6 जनवरी 2022, दिन गुरुवार की सुबह एक बड़ा हादसा हुआ. यहां की विश्व प्रेम डाइंग एंड प्रिंटिंग मिल के पास एक टैंकर से गैस का रिसाव होने से मिल के 6 कर्मचारियों की दम घुटने से मौत हो गई. जबकि 25 से ज्य़ादा लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है. सूरत पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है.

आजतक की गोपी घांघर की रिपोर्ट के मुताबिक, यह हादसा तब हुआ जब मिल के पास स्थित एक नाले में एक अज्ञात टैंकर से जहरीला केमिकल डाला जा रहा था. इस दौरान टैंकर से एक जहरीली गैस का रिसाव होने लगा. इसके चलते पास की प्रिंटिंग मिल में सो रहे करीब 35 कर्मचारियों का दम घुटने लगा, कई कर्मचारी बेहोश हो गए. इन्हें तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया, जहां दम घुटने से चार लोगों की मौत की पुष्टि हुई. सूरत पुलिस को घटना की सूचना दे दी गई है. और उसने मौके पर पहुंचकर मामले की जांच शुरू कर दी है.

गुजरात में इससे पहले भी गैस लीक के कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें लोगों की मौत हुई है. जुलाई 2020 में गुजरात के अहमदाबाद में कपड़े की फैक्ट्री में केमिकल वेस्ट टैंक की सफाई के दौरान चार मजदूरों की मौत हो गई थी. सफाई के दौरान टैंक से निकलने वाली जहरीली गैस उनकी नाक में चली गई थी, जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई. यह हादसा अहमदाबाद के ढोलका स्थित चिरिपाल ग्रुप की विशाल फैब्रिक यूनिट में हुआ था.

MP के उज्जैन में गैस लीक के बाद अलर्ट

बुधवार 5 जनवरी को देर शाम मध्यप्रदेश के उज्जैन के नागदा इलाके में स्थित एक फैक्ट्री से गैस रिसाव के बाद पूरे शहर में हड़कंप मच गया. नागदा स्थित ग्रेसिम फैक्ट्री में अचानक गैस रिसाव शुरु हो गया, जिसके चलते शहर के ऊपर धुएं का गुबार छा गया.

आजतक के रवीश पाल सिंह के मुताबिक गैस लीक की घटना के बाद उज्जैन के जिला मुख्यालय से इंडस्ट्रियल सेफ्टी ऑफिसर और एसडीएम एसडीओपी की पूरी टीम घटनास्थल पर पहुंची. उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह ने बताया,

“ग्रेसिम फैक्ट्री से so3 गैस के रिसाव की सूचना प्राप्त हुई है, इंडस्ट्रियल सेफ्टी ऑफिसर हैं, उनको यहां जिला मुख्यालय से भेजा गया है, इसके साथ-साथ एसडीएम, एसडीओपी और पूरी टीम घटनास्थल पर मौजूद है, पूरे एरिया में लोगों से घटना स्थल से दूर रहने को कहा गया है.”

आशीष सिंह के मुताबिक फिलहाल लीकेज पर काबू पा लिया गया है और घटना किस वजह से हुई इसकी जांच शुरू कर दी गई है. राहत की बात है कि गैस लीकेज से जानमाल के नुकसान की कोई खबर नहीं है.


वीडियो: गुजरात में मांस खाने पर पाबंदी नहीं तो खुले में बेचने पर क्यों? CM भूपेंद्र पटेल ने ये रीज़न दिया





Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.