दिल्ली में 7 जून से और क्या-क्या अनलॉक हो रहा है, CM केजरीवाल ने बताया

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार, 5 जून को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. उन्होंने कहा कि कोविड-19 (Covid-19) के ख़िलाफ दिल्ली की स्थिति बेहतर हो रही है. इसलिए अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाना ज़रूरी है. पिछले 24 घंटे में कोरोना के 500 से कम केस आए हैं. स्थिति कंट्रोल में है. दिल्ली में लॉकडाउन 7 जून की सुबह 5 बजे तक लागू है. 7 जून के बाद भी लॉकडाउन जारी रहेगा, लेकिन काफी चीजों में रियायत दी जा रही है. सीएम ने कहा कि बाजार, मॉल ऑड-ईवन के आधार पर खुलेंगे. इनका समय सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक होगा.

उन्होंने बताया कि सरकारी दफ्तरों में ग्रुप-ए के 100% ऑफिसर काम करेंगे. इसके अलावा ग्रुप-बी का स्टाफ 50% क्षमता के साथ काम करेगा. जरूरी सेवाओं से जुड़े ऑफिस में 100% कर्मचारी काम कर सकते हैं. वहीं, प्राइवेट ऑफिस भी 50% मैन पावर के साथ खुल सकेंगे. उन्होंने कहा कि कोशिश करेंगे कि ज्यादा से ज्यादा लोग वर्क फ्रॉम होम करें. स्टैंड अलोन शॉप हर रोज खुलेंगी.

उन्होंने कहा कि मेट्रो 50% क्षमता के साथ चलाई जाएगी. कोरोना की स्थिति काबू में रही तो कई और रियायतें दी जाएंगी.

आगे की तैयारी के बारे में बताया

केजरीवाल ने कहा कि तीसरी लहर कब आएगी नहीं पता. लेकिन तीसरी लहर की तैयारी चल रही है. दो कमेटी बनाई है. डिटेल में चर्चा की है. इस बार कोरोना की जो पीक आई थी, एक दिन में मैक्सिमम 28 हजार केस रोज आए. अगली जो लहर आएगी उसकी पीक 37 हजार प्रति दिन हो सकती है. इसे ध्यान में रखते हुए तैयारी कर रहे हैं. इसका मतलब ये नहीं है कि इससे ज्यादा की पीक आएगी तो हम तैयार नहीं हैं. हम उसके लिए भी तैयार हैं. कितने बेड, कितने ICU, कितनी दवाइयों की जरूरत पड़ेगी, इसकी तैयारी चल रही है. हॉस्पिटल में बच्चों के लिए अलग से इंतजाम करेंगे. उसके लिए अलग से टास्क फोर्स बना दी गई है.

इस बार ऑक्सीजन की बहुत कमी हुई थी, अगली वेव अगर आती है तो 420 टन ऑक्सीजन की स्टोरेज कैपेसिटी तैयार की जा रही है. इस बार ऑक्सीजन के टैंकरों की दिक्कत आई थी. 25 ऑक्सीजन टैंकर खरीदे जा रहे हैं. 64 छोटे-छोटे ऑक्सीजन के प्लांट लग रहे हैं. कुछ हफ्तों में ये तैयार हो जाएंगे.

डॉक्टरों की टीम बनेगी

इस वेब में देखा गया कि वॉट्सऐप पर दवाइयां खूब प्रिस्क्राइब की जा रही थीं. हम डॉक्टर की टीम बनाएंगे. वो बताएंगे कि फलां दवाई से कोरोना में फायदा होगा कि नहीं. फायदा होगा तो सरकार उपल्बध कराएगी, नहीं फायदा होगा तो लोगों को जागरूक किया जाएगा कि फलां दवाई के पीछे भागना बंद करिए. जो जो इंपोर्टेंट दवाइयां हैं, उनकी लिस्ट बना ली गई है. उसका बफर स्टॉक क्रिएट किया जा रहा है. प्राइवेट अस्पतालों को भी इस तरह के निर्देश दिए गए हैं.

दो जीनोम सीक्वेंसिंग लैब बनाई जा रही है, ताकि हम भी जान सकें कि हमारे यहां कौन-से वौरिएंट की वजह से मामले बढ़ रहे हैं. पुराना है या नया है. इसके बाद हम एक्सपर्ट्स से राय लेकर योजना बना सकते हैं.

दिल्ली में लॉकडाउन 19 अप्रैल को लगाया गया था. इसके बाद इसे 5 बार बढ़ाया गया और फिलहाल यह 7 जून की सुबह 5 बजे तक के लिए लागू है. हालांकि, अनलॉक के पहले चरण में दो मामलों में 31 मई से छूट दी गई थी. इसमें निर्माण गतिविधियां और औद्योगिक क्षेत्रों में काम करने की इजाजत शामिल है.


दिल्ली: केजरीवाल सरकार की शराब होम डिलीवरी वाली स्कीम किस ज़बरदस्त पेंच में फंस गई?





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here