पंजशीर में पाकिस्तान के हवाई हमले के दृश्य के नाम पर रिपब्लिक और TV9 ने वीडियो गेम की क्लिप चलायी

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.


ख़बर आ रही है कि अफ़गानिस्तान के पंजशीर प्रांत पर भी अब तालिबान ने कब्ज़ा कर लिया है. इस दौरान, रिपब्लिक TV ने हस्ती टीवी का एक वीडियो ‘एक्स्क्लूज़िव’ बताते हुए प्रसारित किया. चैनल ने दावा किया कि पाकिस्तानी एयर फ़ोर्स पंजशीर घाटी में हमला कर रही है. और ये उसी का वीडियो है. जबसे तालिबान ने पंजशीर पर कब्ज़ा करने का दावा किया है तबसे कई भारतीय मीडिया संगठनों ने दावा किया कि पाकिस्तान तालिबान के समर्थन में है.

टाइम्स नाउ नवभारत, ज़ी हिंदुस्तान ने भी ये वीडियो चलाया था. इसे बाद में हटा लिया गया था.

ऐसा ही एक वीडियो TV9 भारतवर्ष ने भी चलाया जिसे आप 5 मिनट 30 सेकंड पर देख सकते हैं. चैनल ने ये वीडियो पंजशीर में पाकिस्तान की भागीदारी के सबूत के तौर पर पेश किया.

फ़ैक्ट-चेक

हस्ती टीवी का वीडियो फ़रहान जाफ़री (@Natsecjeff) ने ट्वीट किया था. उन्होंने ट्विटर बायो में खुद को आतंकवाद विरोधी एक्सपर्ट बताया है. फ़रान ने पहले ये वीडियो ट्वीट करते हुए व्यंग्य किया कि ये क्लिप पंजशीर में विद्रोहियों को निशाना बना रही पाकिस्तानी एयर फ़ोर्स की है. लेकिन बाद में उन्होंने बताया कि ये वीडियो गेम की फ़ुटेज है.

फ़रहान सोशल मीडिया पर पंजशीर में ‘पाकिस्तान के हमले’ को लेकर चल रही गलत सूचनाओं को उजागर कर रहे थे. उन्होंने तुरंत ही ट्वीट कर इस वीडियो की सच्चाई बताई थी. लेकिन कई चैनल उनके पहले ट्वीट को असली मानकर ये वीडियो शेयर कर चुके थे.

रिपब्लिक टीवी ने जो वीडियो चलाया था वो ARMA 3 नाम के वीडियो गेम का है. नीचे क्लिप में आप वीडियो गेम के दृश्य 1 मिनट 38 सेकंड के बाद देख सकते हैं. रिपब्लिक ने बाद में सोशल मीडिया से ब्रॉडकास्ट हटा लिया था.

TV9 भारतवर्ष ने जो वीडियो चलाया है वो भी वीडियो गेम ARMA 3 का ही है. चैनल ने पिछले साल भी शिल्का एयर डिफ़ेन्स सिस्टम का इस्तेमाल कर अर्मेनिया MIG 25 को शूट करने के दावे ये वीडियो चलाया था.

कुल मिलाकर, भारतीय मीडिया संगठनों ने पंजशीर के दृश्य बताते हुए एक वीडियो गेम की क्लिप चलायी. जबसे तालिबान अफ़गानिस्तान पर काबिज़ हुआ है तबसे भारतीय मीडिया संगठनों ने कई गलत दावे चलाए हैं. उनपर लिखे ऑल्ट न्यूज़ के फ़ैक्ट-चेक आर्टिकल्स आप यहां पर पढ़ सकते हैं.

रिपब्लिक TV ने बाद में एक स्पष्टीकरण जारी करते हुए सारी ग़लती हस्ती टीवी की बतायी. इस पोस्ट में कहीं भी एक ग़लत ख़बर के लिए माफ़ी नहीं मांगी गयी कि चैनल ने बिना वेरीफ़ाय किए ये वीडियो चलाया.


ज़ी हिंदुस्तान ने पंजशीर के दृश्य बताते हुए जिस बच्ची को बन्दूक चलाते दिखाया, वो बलूचिस्तान की थी :

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.