बंगाल: वैक्सीनेशन के लिए जागरूक करने गई थीं पूर्व मेयर, आरोप कि खुद ही लोगों को वैक्सीन लगाने लगीं!

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

पश्चिम बंगाल में सत्तारुढ़ तृणमूल कांग्रेस (TMC) की एक नेता ने अपनी ही पार्टी के लिए मुश्किलें बढ़ा दी हैं. राजधानी कोलकाता से करीब 200 किमी दूर आसनसोल से TMC नेता और पूर्व मेयर तबस्सुम आरा का एक वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो में तबस्सुम एक वैक्सीनेशन कैंप में महिला को कोविड-19 वैक्सीन लगाती दिख रही हैं, जबकि नर्स बगल में खड़ी है. वीडियो वायरल होते ही विवाद हो गया कि किस नाते तबस्सुम एक महिला को वैक्सीन लगा रही हैं.

वीडियो सामने आते ही राज्य के विपक्षी दल भाजपा की तरफ से भी प्रतिक्रिया आ गई. बंगाल के भाजपा नेता बाबुल सुप्रियो ने ट्वीट किया –

“लग रहा है कि TMC का अपने नेताओं पर कोई नियंत्रण नहीं रह गया है. TMC की नेता और AMC प्रशासनिक बॉडी की सदस्य तबस्सुम आरा ने खुद लोगों को वैक्सीन लगाकर सैकड़ों लोगों की जान खतरे में डाल दी. क्या उनके राजनीतिक रंग की आड़ में वे सज़ा से बच जाएंगी?”

वहीं आसनसोल की विधायक अग्निमित्र पॉल ने भी ट्वीट किया –

“TMC की लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ की कोई सीमा नहीं है. एक गैर-चिकित्सा अधिकारी TMC की तबस्सुम आरा ने डॉक्टरों और नर्सों के मौजूद होने के बाद भी खुद लोगों को टीका लगाने का फैसला किया. क्या वह ऐसा करने के लिए चिकित्सकीय रूप से अधिकृत भी हैं?”

वहीं आसनसोल म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (AMC) के सिविक एडमिनिस्ट्रेटर अमरनाथ चैटर्जी ने इस पर कहा कि –

“हम इस पूरे विवाद की जांच कर रहे हैं. अगर तबस्सुम आरा ने किसी को भी खुद वैक्सीन लगाई है तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी.”

विवाद होने के बाद तबस्सुम ने सफाई दी. कहा कि वे तो वहां वैक्सीन के लिए लोगों को जागरूक करने गई थीं और इसीलिए उन्होंने बस सिरिंज हाथ में ली भर थी. किसी को वैक्सीन नहीं लगाई थी. तबस्सुम ने ये भी दावा किया है कि वे स्कूल में एक नर्सिंग कोर्स कर चुकी हैं.

हालांकि भाजपा लगातार इस मसले पर आक्रामक है. गलती किसकी है, ये जांच के बाद पता चलेगा.


गर्भवती महिलाएं कोविड-19 से बचाव का टीका लगवा सकती हैं या नहीं, जानिए





Source link

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.