बीच मैदान 21 साल के लड़के से क्यों भिड़ बैठे जसप्रीत बुमराह?

0 26


जसप्रीत बुमराह. भारत के तेज़-तर्रार गेंदबाज़. जो अक्सर अपनी घातक गेंदबाज़ी और उतने ही सरल स्वभाव के लिए जाने जाते हैं. बाउंड्री खाने के बावजूद भी जिन्हे अक्सर मुस्कुराते हुए पाया जाता है. लेकिन बल्लेबाज़ी करते वक़्त बुमराह, वो बुमराह नहीं रहते. और इसका प्रूफ एक बार फिर से दिखा जोहानसबर्ग में चल रहे दूसरे टेस्ट मैच में. टेस्ट के तीसरे दिन बुमराह बीच मैदान अफ्रीकी तेज़ गेंदबाज़ मार्को येनसन से लड़ते हुए नज़र आए. मसला था बाउंसर का.

तीसरे दिन के आखिरी सत्र का खेल चल रहा था. भारत के आठ विकेट गिर चुके थे. बुमराह और हनुमा विहारी क्रीज़ पर थे. गेंद मार्को येनसन के हाथ में थी. येनसन ने अभी-अभी शार्दुल ठाकुर और मोहम्मद शमी के विकेट चटकाए थे और काफी अग्रेसिव नज़र आ रहे थे. येनसन ने आते ही बुमराह का स्वागत तीखी बाउंसर्स से करना शुरू किया. एक के बाद एक बाउंसर.

और इन्हीं में से एक गेंद बुमराह की बांह पर जा लगी. जिसके बाद येनसन, बुमराह को घूरने लगे. बुमराह भी कहां पिछड़ने वाले, उन्होंने ऐसे रिएक्ट किया मानों उस गेंद से उन्हें कोई फ़र्क ना पड़ा हो. हालांकि फ़र्क पड़ रहा था. जिसका अंदेशा अगली ही गेंद पर मिल गया. येनसन ने फिर बाउंसर डाली. बुमराह ने जोर से बल्ला घुमाया मगर गेंद से संपर्क नहीं हुआ. जिसके बाद बात बिगड़ गई. बीच पिच पर ही दोनों खिलाड़ियों के बीच कहासुनी होने लगी.

बात इतनी बढ़ गई कि फील्ड अंपायर मरे इरास्मस को बीच बचाव करने आना पड़ा. इस पूरे ओवर में बुमराह एक भी गेंद कनेक्ट नहीं कर पाए. हालांकि अगले ही ओवर में उन्होंने तेज़ गेंदबाज़ कगिसो रबाडा की बाउंसर को बॉउंड्री पार करा पूरे छह रन बटोरे. बुमराह की ये पारी ज्यादा देर नहीं चल सकी. बुमराह दो ओवर बाद लुंगी एनगीडी की गेंद पर येनसन के हाथों कैच आउट हो गए. बुमराह ने 14 गेंदों में सात रन की पारी खेली.

थोड़ी देर बाद ही मोहम्मद सिराज भी चलते बने और भारतीय टीम की दूसरी पारी 266 रन पर सिमट गई. अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा ने अर्धशतकीय पारियां खेलीं जबकि विहारी 40 रन बनाकर नाबाद रहे. 240 रन का पीछा करने उतरी अफ्रीकी टीम तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक दो विकेट के नुकसान पर 118 रन बना चुकी है. अफ्रीका को जीत के लिए अभी 122 रन और बनाने हैं, जबकि भारत को जीत के लिए आठ विकेट लेने होंगे.


क्या पवन सहरावत को क़ाबू कर पाएगा पलटन का डिफेंस?





Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.