ब्लॉक प्रमुख चुनाव: वायरल वीडियो में इटावा के SP बोले-BJP वाले बम लेकर आए थे

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

उत्तर प्रदेश में शनिवार, 10 जुलाई को हुए ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान कई जगहों से हिंसा की खबरें आईं. इटावा के बढ़पुरा ब्लॉक में वोटिंग के दौरान फायरिंग और जमकर हंगामा हुआ. आरोप है कि भाजपा समर्थकों ने एसपी सिटी प्रशांत कुमार पर हाथ उठा दिया. वहीं एसपी सिटी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है जिसमें वह कहते दिख रहे हैं कि उन्हें थप्पड़ मारा गया है और ‘बीजेपी के लोग’ बम लेकर आए हैं.

वायरल वीडियो में एसपी कह रहे हैं,

मुझे थप्पड़ मारा है. ये लोग बम भी लेकर आए थे बीजेपी वाले, विधायक और जिलाध्यक्ष.

वीडियो शेयर करते हुए कांग्रेस नेता श्रीनिवास BV ने पूछा कि दिल्ली में बैठी सरकार चुप क्यों है?

क्या है पूरा मामला?

उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के बढ़पुरा ब्लाॅक प्रमुख के चुनाव में मतदान के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं पर हंगामे का आरोप है. आरोप है कि फायरिंग भी की गई. बेकाबू भीड़ ने एसपी प्रशांत कुमार को धक्का देकर गिरा दिया. पुलिसवालों ने भी आंसू गैस के गोले छोड़े. बात नहीं बनी तो हवाई फायरिंग की. एसपी सिटी प्रशांत कुमार का आरोप है कि उन्हें थप्पड़ मारा गया. बवाल के चलते एक घंटे तक मतदान भी प्रभावित रहा.

सपा की ओर से सपा एमएलसी राकेश यादव के भतीजे आनंद यादव टंटी प्रत्याशी थे, जबकि भाजपा की ओर से गनेश राजपूत. भाजपा विधायक सरिता भदौरिया, जिलाध्यक्ष अजय धाकरे का गृह ब्लाॅक होने से इस सीट पर भाजपा भी प्रतिष्ठा लगी थी. बीजेपी ने चुनाव जीत लिया.

वहीं इस घटना पर समाजवादी पार्टी ने ट्वीट किया,

एसएसपी इटावा डॉक्टर ब्रजेश कुमार सिंह ने भीड़ द्वारा फायरिंग और पत्थरबाजी की बात मानते हुए कहा,

“बढ़पुरा ब्लॉक में काफी स्मूदली वोटिंग चल रही थी. 500 मीटर का बैरियर पार करके कुछ लोग 200 मीटर तक आ गए थे. फायरिंग भी की गई, पत्थबाजी भी की गई. पुलिसकर्मियों ने भीड़ को तितरबितर किया. इस संबंध में फुटेज भी है, और भी चीजें हैं, सबको देखा जाएगा और उसके मुताबिक कार्रवाई करेंगे. पूरा वीडियो है, देखेंगे कि कौन लोग हैं. मुकदमा भी लिखा जाएगा. कड़ी छानबीन करके कार्रवाई करेंगे. पुलिस ने कोई फायरिंग नहीं की है.”

वहीं इस पूरे मामले पर जिलाधिकारी श्रुति सिंह ने कहा कि,

“गणेश राजपूत को विजयी घोषित किया गया है और प्रमाण पत्र दिया गया है. उपद्रव की जो बात आप कर रहे हैं उसकी जांच करके कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी और लॉ एंड ऑर्डर से संबंधित जो भी है उसकी जांच होगी, कार्रवाई होगी.”

वहीं सदर विधायक सरिता भदौरिया ने भाजपा समर्थकों द्वारा हिंसा की बात को सिरे से खारिज करते कहा,

“समाजवादी पार्टी का प्रत्याशी हार्डकोर क्रिमिनल है और वोटिंग के समय उसने हर वोटर को धमकाया. हमारा प्रत्याशी सीधा है, वो चुपचाप बैठा है वहां पर. हमने जब बात करने का प्रयास किया तो पुलिस ने हमारे साथ जबरदस्ती की. थप्पड़ की बात हमें नहीं पता, हम तो इधर खड़े थे साइड से. अध्यक्ष जी गिरे पड़े थे रोड पर. आप लोगों ने भी देखा होगा. हम और अध्यक्ष जी जे खड़े हैं, पिट रहे हैं.”

ऐसा नहीं कि केवल इटावा से ही हिंसा की खबर सामने आई है. यूपी में ब्लॉक प्रमुख के चुनाव के दौरान हर जिले से ऐसी ही खबरें सामने आई हैं.


वीडियो- यूपी ब्लॉक प्रमुख चुनाव: बहराइच में BJP उम्मीदवार के पति पर BDC के जेठ की हत्या में FIR





Source link

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.