मुनव्वर राना के बेटे के ऊपर फायरिंग हुई, पुलिस की जांच में पूरी कहानी ही पलट गई

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

रायबरेली में मशहूर शायर मुनव्वर राना (Munnawar Rana) के बेटे तबरेज पर पिछले दिनों फायरिंग हुई थी. अब इस मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. पुलिस का दावा है कि मुनव्वर राना के बेटे ने अपने चाचा और चचेरे भाइयों को फंसाने के लिए खुद पर ही गोली चलवाई थी. फायरिंग की पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद है. सीसीटीवी में दिखे सभी शूटरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. मुनव्वर के बेटे की तलाश की जा रही है. आइए जानते हैं, क्या है पूरा मामला-

रायबरेली में हुई तबरेज पर फायरिंग

अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त शायर मुनव्वर राना मूल रूप से यूपी के रायबरेली के रहने वाले हैं. लेकिन लंबे समय से लखनऊ में रहते हैं. उनका बेटा तबरेज भी उनके साथ ही रहता है. तबरेज का जमीन का काम है. अब बताते हैं 28 जून 2021 की घटना के बारे में. रायबरेली में त्रिपुला चौराहे के पास गोलियां चलीं. अचानक फायरिंग से हड़कंप मच गया. पता चला कि मशहूर शायर मुनव्वर राना के बेटे तबरेज राना पर कुछ बाइक सवार बदमाशों ने फायरिंग कर दी है. त्रिपुला के पेट्रोल पंप के पास दो राउंड फायर किए गए. दोनों गोलियां तबरेज की गाड़ी में लगीं. फायरिंग के बाद हमलावर भागने में कामयाब रहे. पुलिस ने जांच शुरू की. चश्मदीदों के बयान लिए. घटनास्थल पर मौजूद सीसीटीवी के फुटेज निकलवाए गए. और बदमाशों की तलाश की जाने लगी. घटना के बारे में राना ने पुलिस को बताया कि उनकी किसी से रंजिश नहीं है.

पुलिस ने अलग कहानी बताई

2 दिन की जांच के बाद पुलिस ने मुनव्वर राना के बेटे तबरेज को ही इस पूरी घटना का रचयिता बताया. पुलिस का दावा है कि तबरेज ने अपने चाचा और चचेरे भाइयों को फंसाने के लिए खुद पर गोली चलवाई थी. पुलिस ने सीसीटीवी की तस्वीरें दिखाईं. पुलिस के मुताबिक, सीसीटीवी की तस्वीरों में दिख रहा है कि कैसे मुनव्वर राना का बेटा रायबरेली के त्रिपुला चौराहे पर बने पेट्रोल पंप पर पहुंचता है. गाड़ी को पेट्रोल पंप के बाहर ही खड़ा करता है. खुद भी गाड़ी में बैठा रहता है. कुछ देर बाद 2-3 शूटर वहां पहुंचते हैं. गाड़ी का मुआयना करके पेट्रोल पंप के गेट पर फायरिंग करके भाग जाते हैं.

पुलिस ने 2 जून को खुलासा किया कि सीसीटीवी में तबरेज खुद उन लोगों के साथ नजर आया है, जिन्होंने उसके ऊपर फायरिंग की थी. (फोटो-आजतक)

CCTV से खुल गया राज

पुलिस ने इस बात के सबूत होने का दावा भी किया है कि तबरेज ने शूटर्स के साथ घटना से पहले मीटिंग की थी. पुलिस का कहना है कि तबरेज ने रायबरेली के ओम क्लार्क होटल में शूटरों से ढाई घंटे तक मीटिंग की. यह मीटिंग रात 12:00 बजे से 2:30 बजे तक चली. पुलिस ने इस मीटिंग के सीसीटीवी फुटेज भी दिखाए.

इस घटना के पीछे की वजह के बारे में पुलिस ने बताया कि तबरेज ने अपने चचेरे भाइयों के हिस्से की जमीन भी 85 लाख में बेच दी थी. जब चचेरे भाइयों ने जमीन के सौदे पर आपत्ति जताई, तब तबरेज पर पैसे वापस करने का दबाव बनने लगा. आरोप है कि इसी झंझट से छुटकारा पाने के लिए तबरेज ने यह कहानी रची.

पुलिस ने सीसीटीवी में दिख रहे शूटरों को गिरफ्तार कर लिया है. इनके नाम हैं- हलीम, सुल्तान, सतेंद्र तिवारी और शुभम सरकार. सभी रायबरेली के रहने वाले हैं. मुनव्वर राना का बेटा तबरेज अभी फरार है.

मुनव्वर राना के घर रात में पहुंची पुलिस

इसी के बीच 1 जून की देर रात मुनव्वर राना के बेटी फौजिया राना ने एक वीडियो सोशल मीडिया पर डाला. आरोप लगाया कि पुलिस बिना सर्च वॉरंट के उनके घर में घुस आई. उनको पिता सहित घर के बाहर बिठा दिया. परेशान किया. बाद में मुनव्वर राना ने भी पुलिस पर गुंडागर्दी करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि

पुलिस ने मुझसे कहा कि आप हटिए, आपसे कुछ लेना-देना नहीं है. मैंने कहा कि मैं उसका बाप हूँ, मेरी यही गलती है. फिर मैंने पुलिस से पूछा कि आपके पास कोई सर्च वारंट है तो बताइए. उन्होंने कुछ नहीं बोला. घर में गुंडागर्दी करते हुए इधर उधर जाने लगे. रास्ता रोक दिया. न मीडिया को आने दिया, न वकीलों को. ये सरासर गुंडागर्दी है. ये तो बिकरू कांड है. मुझे इन पुलिसवालों में से कोई मार भी देता. और न भी मारता तो मेरे हालात ऐसे हैं कि मैं मर जाता. लेकिन अगर मैं मरता तो सब पुलिस वाले दोषी होते.

मुनव्वर राना ने बताया कि पुलिस उनकी बेटी (फौज़िया) का मोबाइल भी ले गई. पुलिस ने इस घटना के बारे में दावा किया कि वह तबरेज की तलाश में उनके घर गई थी.


वीडियो – लखनऊ में BJP सांसद कौशल किशोर के बेटे पर गोली चलने के बाद क्या खुलासा हुआ?





Source link

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.