यह चुनाव 80 बनाम 20% के बीच, योगी के इस बयान पर सोशल मीडिया ने क्या कहा?

0 21


उत्तर प्रदेश में चुनाव हो और हिंदू-मुसलमान न हो, ऐसा कैसे हो सकता है! यूपी में चुनाव की तारीख का ऐलान होते ही नेता हिंदू-मुसलमान वाला दांव आजमाने लगे हैं. सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इशारों-इशारों में कह दिया है कि इस बार का चुनाव 80 फीसदी बनाम 20 फीसदी वाला होगा और मुसलमान उन्हें कभी वोट नहीं देगा.

योगी ने मुसलमानों के लिए क्या कहा?

योगी आदित्यनाथ शनिवार को लखनऊ में आयोजित किए गए दूरदर्शन कॉन्क्लेव में बोल रहे थे. इस दौरान एक सवाल का जवाब देते हुए हुए उन्होंने कहा,

”हम लोग जब 2017 में सरकार में आये थे तो हमने एक चीज उस दिन तय कर ली थी कि हमारी सरकार प्रधानमंत्री मोदी के ‘सबका साथ सबका विकास’ के मंत्र पर काम करेगी. हमने विकास योजनाओं का लाभ सबको दिया है, विकास सबका किया है, लेकिन तुष्टिकरण किसी का नहीं किया.”

‘हिंदू विरोधी मोदी-योगी को स्वीकार नहीं कर सकते’

योगी आदित्यनाथ ने यह भी कहा कि वे कुछ भी कर लें लेकिन हिंदू विरोधी तत्व मोदी-योगी को कभी स्वीकार नहीं कर सकते. सीएम योगी ने कहा,

“अगर कोई इसे हमारी कमजोरी मानता है तो यह कमजोरी हमेशा हमारे साथ रहेगी, क्योंकि राष्ट्रवाद हम सबका संस्कार है. अपने इस राष्ट्रवाद के मुद्दे से हम लोग कभी भी विचलित नहीं होंगे. दूसरा, कोई भारत विरोधी तत्व और हिन्दू विरोधी तत्व मोदी जी और योगी को कैसे स्वीकार्य कर लेगा, वह हमें कभी भी स्वीकार्य नहीं करेगा. मैं अपनी गर्दन काटकर के तश्तरी में उसके सामने प्रस्तुत कर दूं तो भी वह मुझे कोसेगा ही. ऐसे तत्वों की हम परवाह नहीं करते हैं.”

‘यह चुनाव 80 बनाम 20 का’

योगी आदित्यनाथ यहीं नहीं रुके उन्होंने इशारों-इशारों में यह भी कह दिया कि 20 फीसदी मुसलमान उन्हें वोट नहीं देंगे और सिर्फ 80 फीसदी हिन्दुओं का वोट ही उन्हें मिलेगा. योगी ने कहा,

”मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं, जो गलतफहमी के शिकार हैं, वे ही अपने आंकड़े प्रदेश में थोपने का प्रयास कर रहे हैं. लेकिन यह चुनाव 80 बनाम 20 का होगा, 80 फीसदी समर्थक एकतरफ होगा, 20 फीसदी दूसरी तरफ होगा. मुझे लगता है कि 80 फीसदी सकारात्मक ऊर्जा के साथ आगे बढ़ेंगे जबकि 20 फीसदी ने हमेशा विरोध किया है, आगे भी विरोध करेंगे लेकिन सत्ता भाजपा की आएगी. भाजपा फिर ‘सबका साथ सबका विकास’ के अभियान को आगे बढ़ाने का काम करेगी.”

सपा ने कहा 85 बनाम 15 फीसदी के बीच चुनाव

उधर, समाजवादी पार्टी ने योगी आदित्यनाथ के इस बयान को लेकर उनपर हमला बोला है, और उन पर ध्रुवीकरण करने का आरोप लगाया है. समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता सुनील ने यह भी कहा है कि यह चुनाव 80 बनाम 20 का नहीं बल्कि 85 बनाम 15 का होगा. और 85 फीसदी वोटर सपा को वोट देंगे.

सोशल मीडिया पर आए रिएक्शन

योगी आदित्यनाथ के ’80 फीसदी बनाम 20 फीसदी के बीच चुनाव’ वाले बयान पर सोशल मीडिया पर खूब प्रतिक्रियाएं आयी हैं. आइये देखते हैं कुछ प्रतिक्रियाएं. ट्विटर यूजर हिमांशु जैन नायक इस बयान पर लिखते हैं,

सही कहा 80 फीसदी लोग बेरोजगारी, महंगाई, स्वास्थ्य कुप्रबंधन, ध्वस्त होते छोटे माध्यम धंधे, सच, आलोचना, न्याय और अधिकार की आवाज़ों को कुचलने, आपसी भाईचारे और नफ़रत के खिलाफ होंगे जबकि 20 फीसदी लोग झूठ, फरेब, मक्कारी, जुमले-बाजी और नफ़रत के साथ होंगे.

भारत नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा है

हिंदू-मुस्लिम के अलावा कुछ किए होते, तो आज ये बोलने की जरूरत नहीं पड़ती योगी जी, अबकी बार जनता तुम्हारे झांसे में नहीं आने वाली है. आएंगे तो भइया जी ही.

 

ठाकुर प्रमोद सिंह नाम के एक यूजर योगी के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखते हैं,

सही कहा योगी जी ने. चुनाव 20 फीसदी अंधभक्तों के विरूद्ध, 80 जन मानस के बीच है. देखना है जीत किसकी होती है.

 

अपर्णा नाम की यूजर लिखती हैं कि 80 फीसदी लोग रोटी, रोजगार और शिक्षा चाहते हैं…क्या आप में उन्हें इसका आश्वासन देने की हिम्मत है


वीडियो : UP चुनाव 2022 से पहले सड़क पर उतरे युवाओं की CM योगी से क्या मांग है?





Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.