वरुण चक्रवर्ती का खुलासा, अपने इंटरनेशनल डेब्यू से एक दिन पहले इस विकेटकीपर को कॉल करके मांगा था बॉलिंग इनपुट 

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.


भारतीय स्पिनर वरुण चक्रवर्ती ने पिछले महीने जुलाई में टी20 मैच से अपने इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था। उन्होंने अपना डेब्यू मैच श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो के आर प्रेमदासा स्टेडि​यम में खेला था। 29 साल के चक्रवर्ती ने आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए भी अब तक कमाल का प्रदर्शन किया है। हालांकि चक्रवर्ती ने अब खुलासा किया है कि उन्होंने अपने इंटरनेशनल डेब्यू मैच से एक दिन पहले विकेटकीपर दिनेश कार्तिक से बात करके गेंदबाजी पर सुझाव मांगा था। चक्रवर्ती ने उस वाक्ये को एक बार फिर से याद किया है, जब उन्होंने अपने कोलकाता नाइट राइडर्स के टीम साथी कार्तिक से बात की थी क्योंकि कार्तिक इंग्लैंड में ऑफिशियल ब्रॉडकास्टर के लिए कमेंट्री कर रहे थे और कमेंट्री बॉक्स से जून में भी वह श्रीलंका-इंग्लैंड सीरीज देखी थी।  

 
चक्रवर्ती ने कहा कि कार्तिक ने उन्हें श्रीलंकाई बल्लेबाजों के खिलाफ गेंदबाजी करने के लिए कुछ सुझाव दिए थे। चक्रवर्ती ने ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ से बातचीत में कहा, ‘मैंने मैच से एक दिन पहले उन्हें फोन किया था और उनसे पूछा क्योंकि वह इंग्लैंड-श्रीलंका सीरीज के दौरान भी कमेंट्री कर रहे थे। उन्होंने मुझे कुछ इनपुट भी दिए थे। उन्होंने मुझसे काफी कुछ शेयर किया कि कहां गेंदबाजी करनी है और कैसे गेंदबाजी करनी है। साथ ही उन्होंने मुझे ये भी बताया कि श्रीलंकाई खिलाड़ी कैसे खेलते हैं और इस तरह की कई चीजें मेरे साथ शेयर की।’ 

वर्ल्ड कप चैंपियन टीम का एक और खिलाड़ी चला अमेरिका, देश में लगातार इग्नोर होने के बाद इंडियन क्रिकेट को कहा अलविदा 

चक्रवर्ती तीन इंटरनेशनल मैचों से अब तक दो विकेट लेने में सफल रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह उनके लिए एक इमोशनल पल था, जब उन्होंने भारत की टोपी प्राप्त की। स्पिनर ने यह भी बताया कि मैच शुरू होने से पहले वह नर्वस भी थे और उन्हें रात में नींद तक नहीं आई। 

IND vs ENG: पूर्व इंग्लिश कप्तान नासिर हुसैन का बड़ा बयान, बोले- विराट कोहली को यह याद दिलाने की जरूरत है कि वे खेल नहीं चलाते

चक्रवर्ती ने कहा, ‘ पारस म्हाम्ब्रे (गेंदबाजी कोच) ने मुझे टोपी दी और यह मेरे लिए बहुत ही इमोशनल पल था। ऐसा लगा जैसे एक सपना सच हो गया। यह वही था जो मैं लंबे समय से चाहता था। जाहिर है कि इसके साथ बहुत ही जिम्मेदारी भी थी। लेकिन मैं उन भावनाओं में नहीं बहना चाहता था और बस खुद को वर्तमान में रखा। शुरुआत में मेरे मन में घबराहट थी क्योंकि यह मेरा पहला इंटरनेशनल मैच था। मैच से पहले मेरी रातों की नींद उड़ी हुई थी, लेकिन एक बार जब मैं मैच में आ गया तो सब कुछ ठीक हो गया।’





Source link

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.