वर्ल्ड कप की बस मिस करने वाली वो खिलाड़ी जिन्हें फैंस कर रहे मिस!

0 12


साल 1973 में पहली बार महिलाओं का क्रिकेट विश्वकप खेला गया. भारतीय महिला टीम ने इसमें पहली बार साल 1977/78 में हिस्सा लिया. तब से अब तक 11 बार क्रिकेट विश्वकप खेला गया है. जिसमें ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड का एकछत्र राज रहा है. ऑस्ट्रेलिया ने छह बार तो इंग्लैंड ने चार बार इस खिताब को जीता है. एक बार न्यूज़ीलैंड भी इसका चैम्पियन बना है. साल 2017 में आखिरी बार खेले गए क्रिकेट विश्वकप में भारतीय टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन किया था और वो पहली बार विश्वकप चैम्पियन बनने से महज़ सात रन से चूक गई थी.

अब विश्वकप का काउंटडाउन शुरू हो गया है. आने वाली चार मार्च से न्यूज़ीलैंड में क्रिकेट विश्वकप का आगाज़ हो जाएगा. जिसके लिए भारतीय टीम ने अपने 18 सदस्यीय दल का ऐलान कर दिया है. भारत के इस दल में मिताली राज, स्मृति मंधना, झूलन गोस्वामी समेत बहुत सारे टैलेंटिड खिलाड़ी हैं. लेकिन कुछ ऐसे खिलाड़ी भी हैं. जिन्हें टीम में जगह नहीं मिलने पर फैंस नाखुश हैं.

फैंस के साथ-साथ खुद खिलाड़ियों ने भी नाराज़गी जताई है. शुक्रवार को हमने आपको अपडेट दिया था कि पूनम राउत टीम में शामिल नहीं किए जाने से निराश हैं. उन्होंने ट्वीट कर अपनी नाराज़गी भी ज़ाहिर की. पूनम ने ट्विटर पर लिखा था कि निरंतर परफॉरमेंस देने के बावजूद भी उन्हें टीम से ड्रॉप कर दिया गया. लेकिन ऐसी खिलाड़ी सिर्फ पूनम ही नहीं हैं. पूनम के अलावा कई और ऐसे चौंकाने वाली खिलाड़ी रहीं. जिन्हें टीम से बाहर रखने पर फैंस नाखुश हैं.

आइये जानते हैं, कौन-कौन से खिलाड़ियों को विश्वकप जाने वाली टीम बस में फैंस देखना चाहते थे.

#जेमिमा रॉड्रिग्स:

जेमिमा रॉड्रिग्स. टीम इंडिया की युवा बल्लेबाज़. साल 2018 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ वनडे डेब्यू किया था. पिछले तीन साल में मिडल ऑर्डर में भारत की अहम बल्लेबाज़ रही हैं. नेपियर में न्यूज़ीलैंड के खिलाफ़ उनकी 81 रन की पारी हो या फिर साउथ अफ्रीका के खिलाफ वडोदरा में खेली गई उनकी 55 रन की पारी याद की जाती है. लेकिन 2021 में उनके बल्ले से रन नहीं निकले. 2021 में खेले पांच वनडे मैचों में जेमिमा ने महज़ 22 रन बनाए.

#शिखा पांडेय:

शिखा पांडेय. भारत की तेज़ गेंदबाज़. शिखा ने साल 2014 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ वनडे डेब्यू किया था. शिखा पांडेय भारत की अहम तेज़ गेंदबाज़ रही हैं. उनके पास 55 वनडे मैच का अच्छा खासा अनुभव है, जिसमें उन्होंने 75 विकेट अपने नाम किए हैं. हालांकि साल 2021 में उनका प्रदर्शन बहुत खास नहीं रहा और इंग्लैंड दौरे पर खेले तीन मैच में वो सिर्फ दो विकेट ही निकाल सकीं.

#पूनम राउत:

पूनम राउत ने 2009 में वनडे में डेब्यू किया था. उन्होंने भारत के लिए 73 वनडे मैच में 2299 रन बनाए हैं. इनमें तीन शतक और 15 अर्धशतक शामिल हैं. 2017 में हुए पिछले वनडे वर्ल्ड कप में भी पूनम टीम का हिस्सा थीं. कुल मिलाकर पूनम अब तक तीन वनडे और चार T20 वर्ल्ड खेल चुकी हैं. क्रिकेट विश्वकप में उन्होंने कुल 14 मैच में एक शतक और तीन अर्धशतक के साथ 466 रन बनाए हैं. और ऐसा भी नहीं है कि पूनम का हालिया प्रदर्शन बेहद खराब रहा हो. 2021 में खेले छह वनडे मैच में उन्होंने 73.75 की औसत से बल्लेबाज़ी करते हुए 295 रन बनाए हैं. जिनमें एक शतक और दो अर्धशतक शामिल रहे.

#वेदा कृष्णमूर्ति:

भारत की अनुभवी बल्लेबाज़ वेदा भी 2022 विश्वकप वाले दल का हिस्सा नहीं हैं. वेदा ने भारत के लिए 48 वनडे में 25.90 की औसत से 829 रन बनाए हैं. उन्होंने साल 2011 में इंग्लैंड के खिलाफ अपना डेब्यू किया था. तब से लेकर 2018 तक वो टीम का अहम हिस्सा रहीं. लेकिन खराब फॉर्म की वजह से उन्हें टीम से ड्रॉप कर दिया गया. वेदा ने भारत के लिए 2017 क्रिकेट विश्वकप खेला था और वो उस टीम का अहम हिस्सा थीं.

इन स्टार्स के अलावा फैंस तो भारतीय दल में प्रिया पूनिया, हरलीन देओल, मानसी जोशी और अरुंधति रेड्डी को भी मिस कर रहे हैं. अब हम तो यही उम्मीद करेंगे कि भारतीय टीम जिस भी दल के साथ जा रही है. वो दल न्यूज़ीलैंड में इतिहास रचकर लौटे और पहली वुमेन्स विश्वकप ट्रॉफी भारत में आए.


ऋषभ पंत के शॉट सेलेक्शन पर गावस्कर ने क्या कहा? 





Source link

Leave A Reply

Your email address will not be published.