फ़ैक्ट-चेक : अफ़ग़ान राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी ने देश छोड़ने से पहले तालिबान के नेता को गले लगाया?

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.


तालिबान के कब्ज़े के बाद अफ़ग़ानिस्तान में हालत खराब हैं. अफ़ग़ानिस्तान से ऐसे कई दृश्य सामने आए हैं जिसने दुनिया भर को हिला के रख दिया है. अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी भी देश छोड़कर जा चुके हैं. इस दौरन, सोशल मीडिया पर अशरफ़ ग़नी की एक तस्वीर काफ़ी शेयर की जा रही है. तस्वीर में वो एक व्यक्ति को गले लगाते हुए दिख रहे हैं. दावा है कि ये तस्वीर अशरफ़ ग़नी के देश छोड़ने से पहले की है जहां वो तालिबानी नेता से गले मिल रहे हैं.

टीवी9 भारतवर्ष ने एक कार्यक्रम के दौरान ये तस्वीर चलाई थी. वीडियो में एंकर कहते हैं कि अब्दुल ग़नी ने तालिबानी नेताओं को गले लगाया. ऐंकर निशांत चतुर्वेदी ने कार्यक्रम में शामिल लोगों से सवाल किया डर के मारे गले लगाया है या कोई बहुत पुराना याराना है. (आर्काइव लिंक)

नेशनल हेरल्ड ने भी ये तस्वीर आर्टिकल में ऐसे ही दावे के साथ शेयर की है.

जनता का रिपोर्टर ने ये तस्वीर इसी दावे के साथ ट्वीट की. (आर्काइव लिंक)

टाइम्स ऑफ़ इस्लामाबाद के आर्टिकल में ये तस्वीर शेयर की गई है. पत्रकार और इतिहासकार विजय प्रसाद ने भी ये तस्वीर ऐसे ही दावे के साथ ट्वीट की. (आर्काइव लिंक)

फ़ैक्ट-चेक

वायरल पोस्ट पर एक व्यक्ति ने जवाब देते हुए एक फ़ेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट शेयर किया. स्क्रीनशॉट में दिख रहा फ़ेसबुक पोस्ट 1 मार्च 2020 का है. इसमें वायरल तस्वीर शेयर की गई थी. पोस्ट के मुताबिक, ये तस्वीर ईद के कार्यक्रम की थी.

Facebook compressed

 

की-वर्ड्स सर्च से ऑल्ट न्यूज़ को टोलो न्यूज़ का एक वीडियो मिला. 12 अगस्त 2019 के इस वीडियो में अशरफ़ ग़नी की पगड़ी का पैटर्न वायरल तस्वीर से मिलता है. ऑल्ट न्यूज़ इस बात की पुष्टि नहीं करता है कि ये तस्वीर उसी मौके थी जिसका ये वीडियो है.

टोलो न्यूज़ ने और बाकि ट्विटर अकाउंट्स (लिंक 1, लिंक 2, लिंक 3) ने अगस्त 2019 में ईद के मौके की तस्वीरें ट्वीट की हैं. इन तस्वीरों में अशरफ़ ग़नी को उन्हीं कपड़ो में देखा जा सकता है जो वायरल तस्वीर में भी दिखते हैं.

Crello — Free Graphic Design Software Simple Online Photo Editor 1

न्यूज़ मोबाइल ने भी इस वायरल तस्वीर के बारे में फ़ैक्ट-चेक रिपोर्ट पब्लिश की है.

लेकिन यहां एक बात तो साफ़ हो जाती है कि ये तस्वीर अशरफ़ ग़नी के देश छोड़ने से पहले की नहीं है. क्योंकि ये तस्वीर साल 2020 में भी शेयर की गई थी.


श्रीनगर में आतंकवादी को हिरासत में लेने का वीडियो बताकर शेयर की गयी क्लिप ब्राज़ील की है :

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.