18 बच्चों वाली महिला का वीडियो सांप्रदायिक दावे के साथ वायरल, महिला हिंदू समुदाय से है

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.


सोशल मीडिया पर एक महिला के इंटरव्यू का वीडियो वायरल है. वीडियो में ये महिला बताती है कि उसके 18 बच्चे हैं. इसके अलावा, वो इन बच्चों के खाने-पीने और शिक्षा को लेकर सवाल उठा रही है. वीडियो शेयर करते हुए यूज़र्स इस महिला को “रज़िया” और “जिहादी” बता रहे हैं. ट्विटर यूज़र किरन जैन ने ये वीडियो ट्वीट किया. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

फ़ेसबुक यूज़र ‘बाबा भक्त’ ने भी ये वीडियो पोस्ट किया. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 1,800 व्यूज़ मिले हैं. (आर्काइव लिंक)

😜 सिर्फ 18 बच्चे (11लड़के +7 लड़कियां) पैदा किये हैं इस जिहादन ने! और खाना, कपड़ा, शिक्षा मोदी जी से मांग रही है!😜

Posted by बाबा भक्त on Saturday, 7 August 2021

फ़ेसबुक पेज ’24 hours today news’ ने भी सांप्रदायिक ऐंगल के साथ वीडियो पोस्ट किया. (पोस्ट का आर्काइव लिंक)

ट्विटर हैन्डल ‘@humlogindia’ ने भी ये वीडियो ट्वीट किया. अपने ट्वीट पर रिप्लाइ करते हुए इस यूज़र ने इस ओर इशारा किया कि ज़्यादा परिवारीजन वाले लोग ज़्यादा राशन घर ले जाते हैं.

फ़ेसबुक, ट्विटर पर ये वीडियो वायरल है.

This slideshow requires JavaScript.

विनोद बंसल ने भी ये वीडियो ट्वीट किया है. लेकिन ट्वीट में विनोद ने इस महिला के मुस्लिम होने की बात नहीं बताई है. महेश विक्रम हेगड़े ने भी ये वीडियो ट्वीट किया है. लेकिन इन ट्वीट्स पर आये जवाब देखने से लगता है कि यूज़र्स इस महिला को मुस्लिम समुदाय का मान रहे हैं.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ैक्ट-चेक

वीडियो के फ़्रेम पर ‘FT’ लिखा है.

2021 08 25 18 16 06 9 Sanjay Pandey Indian 🇮🇳 on Twitter 😜 सिर्फ 18 बच्चे 11लड़के 7 लड़किया 1

यूट्यूब पर की-सर्च करने से ऑल्ट न्यूज़ को फायर टीवी का 27 जुलाई 2021 का वीडियो मिला. ये वीडियो, वायरल वीडियो का लंबा वर्ज़न है. वीडियो के शुरुआत में 22 सेकंड पर महिला अपना नाम रामश्री बताती है. आगे, वीडियो में 2 मिनट 35 सेकंड पर ये महिला ख़ुद को कुर्मी बताती है. कुर्मी हिन्दू समुदाय की एक जाति है. उत्तर प्रदेश में कुर्मी समुदाय की बड़ी आबादी है.

इस तरह, एक महिला के 18 बच्चे होने के बयान वाला वीडियो सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक ऐंगल के साथ शेयर किया गया. यूज़र्स ने ये वीडियो शेयर करते हुए इस महिला को “रज़िया” बताया और उसके लिए “जिहादन” शब्द का इस्तेमाल किया.


उज्जैन में लगे ‘काज़ी ज़िन्दाबाद’ के नारे, मगर पुलिस का कहना है कि ‘पाकिस्तान ज़िन्दाबाद’ भी कहा गया :

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.