CNN ने तालिबानी आतंकियों के मास्क पहनने पर तारीफ़ नहीं की, सटायर को लोगों ने सच मान लिया

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.


15 अगस्त को तालिबान ने काबुल पर कब्जा कर लिया और देश के राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर चले गए. ऐसे समय BJP सांसद वरुण गांधी ने एक ग्राफ़िक शेयर की और लिखा कि ये काबुल के कोरोना वॉरियर हैं. तस्वीर में CNN न्यूज़18 का एक ग्राफ़िक दिखता है और टाइटल है, “CNN ने हमले के दौरान मास्क पहनने के लिए तालिबानियों की तारीफ़ की”. (आर्काइव लिंक)

फ़िल्म मेकर अशोक पंडित ने ये ग्राफ़िक शेयर करते हुए कहा कि CNN ने तालिबान के आतंकियों को अफगानिस्तान के निर्दोष लोगों को मारते वक़्त मास्क पहनने की वजह से फ़ाइटर कहते हुए तारीफ़ की. (आर्काइव लिंक)

विवेक अग्निहोत्री ने भी ये तस्वीर शेयर की और उन्होंने इसका क्रेडिट कॉमेडियन जो रोगन के इन्स्टाग्राम हैंडल को दिया. (आर्काइव लिंक)

और भी कई लोगों ने ये तस्वीर शेयर की है. इक्विटी इंटेलीजेंस इंडिया लिमिटेड के सीईओ पोरिंजू वेलियाथ ने ये तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा ‘तालिबान’ का मतलब अरेबिक में ‘स्टूडेंट्स’ होता है. फ़ेसबुक पर ये तस्वीर इस दावे के साथ वायरल है.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ैक्ट-चेक

टाइटल के साथ शेयर हो रहे इस तस्वीर में ‘BabylonBee.com’ का बायलाइन दिख रहा है.

2021 08 16 19 15 27 babylon

सर्च करने पर पता चला कि ये एक सटायर वेबसाइट है जो व्यंग्य के तौर पर आर्टिकल पब्लिश करता है. इस वेबसाइट के अबाउट सेक्शन की पहली लाइन में ही लिखा है कि ये एक मज़ाकिया वेबसाइट है.

2021 08 16 19 12 24 babylon

‘द बेबीलोन बी’ के ट्विटर हैंडल से ये आर्टिकल 15 अगस्त को शेयर किया गया था. ट्विटर हैंडल के बायो में लिखा है, “ऐसी फ़र्ज़ी ख़बरें जिनपर आप भरोसा कर सकते हैं.”

2021 08 16 19 05 32 The Babylon Bee on Twitter CNN Praises Taliban For Wearing Masks During Attack

इस मज़ाकिया आर्टिकल में जिस तस्वीर का इस्तेमाल किया गया है उसका रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें BBC की 2012 की एक रिपोर्ट में ये तस्वीर मिली. इसका क्रेडिट रॉयटर्स को दिया गया था. तस्वीर के कैप्शन में लिखा था, “2007 में मौलाना फज़लुल्लाह के नेतृत्व में तालिबान ने स्वात पर कब्जा कर लिया.”

2021 08 16 19 19 44 Pakistans army steps up radio wars BBC News

यानी, एक मज़ाकिया वेबसाइट से पब्लिश किए गए आर्टिकल का स्क्रीनशॉट लोगों ने सच मानकर शेयर किया. इससे पहले भी एक बार इस वेबसाइट के एक आर्टिकल का एक स्क्रीनशॉट शेयर किया गया था. उस समय सटायर आर्टिकल की तस्वीर शेयर कर लोग कहने लगे थे कि एसोसिएटेड प्रेस का रिपोर्टर लाइव आने से पहले अपने माथे से हमास का हेडबैंड हटाना भूल गया. ये दावा ग़लत था इस बारे में ऑल्ट न्यूज़ की फ़ैक्ट-चेक रिपोर्ट यहां देखी जा सकती है.


श्रीनगर में आतंकवादी को पकड़े जाने का लाइव वीडियो बताकर ब्राज़ील की क्लिप शेयर, देखिये

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.