Facebook के सबसे बड़ी डाटा चोरी! यूजर्स का डाटा सेल के लिए ऑनलाइन उपलब्ध

Facebook के सबसे बड़ी डाटा चोरी! यूजर्स का डाटा सेल के लिए ऑनलाइन उपलब्ध

हाइलाइट्स:

  • Facebook के 533 मिलियन यानी करीब 53.30 करोड़ यूजर्स का निजी डाटा हैकर्स फोरम पर लीक
  • यह डाटा करीब 106 देशों के यूजर्स का
  • 6 मिलियन भारतीय यूजर्स के डाटा शामिल

Facebook अपनी प्राइवेसी को लेकर लगातार चर्चा में बना रहता है। हाल ही में एक ऐसा खबर सामने आई है जिसने यूजर्स को सकते में डाल दिया है। रिपोर्ट के अनुसार, Facebook के 533 मिलियन यानी करीब 53.30 करोड़ यूजर्स का निजी डाटा हैकर्स फोरम पर लीक किया गया है। यह डाटा करीब 106 देशों के यूजर्स का बताया जा रहा है।

साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि Facebook के इतिहास के यह सबसे बड़ा डाटा ब्रीच है। रिपोर्ट के अनुसार, Facebook के यूजर्स का हैक किया गया सभी डाटा ऑनलाइन फ्री में उपलब्ध करवाया गया था। रॉयटर्स की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि इस डाटा लीक में 106 देशों के Facebook यूजर्स का डाटा शामिल है जिनमें 32 मिलियन डाटा अमेरिकी यूजर्स, 11 मिलियन ब्रिटेन के यूजर्स और 6 मिलियन भारतीय यूजर्स के डाटा शामिल हैं। इस निजी डाटा में यूजर्स की जन्म तिथि, पूरा नाम, बायो, लोकेशन और ई-मेल आदि शामिल हैं।

Flipkart TV Days पर धमाका ऑफर, सिर्फ 3000 रुपये में मिल रहा स्मार्ट टीवी

वहीं, कई यूजर्स के तो फोन नंबर भी शामिल हैं। वहीं, कई रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया है कि सिर्फ यूजर्स का ही नहीं बल्कि Facebook के सीईओ मार्क जकरबर्ग का फोन नंबर और निजी जानकारी भी इस डाटा लीक में शामिल हैं। एक रिसर्चर के अनुसार, यह डाटा ब्रीच लो-लोवल हैकिंग फॉरम के जरिए किया गया है।

साइबर रिसर्चर डेव वॉकर के अनुसार, 533 मिलियन यूजर्स में मार्क जकरबर्ग और कंपनी के को-फाउंडर्स क्रिस ह्यूस और डस्टिन मॉस्कोविट्ज भी शामिल हैं जिनकी निजी जानकारी हैक की गई है। Facebook के प्रवक्ता के अनुसार, यह एक पुराना डाटा है जिसे वर्ष 2019 में रिपोर्ट किया गया था। कंपनी ने इसे संज्ञान में लेकर अगस्त 2019 में ही ठीक कर दिया था। हालांकि, अभी हुए डाटा ब्रीच को लेकर कंपनी की तरफ से कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिली है।

CoVID-19 वैक्सीनेशन सेंटर को ढूंढने में हो रही है परेशानी तो फॉलो करें स्टेप बाय स्टेप प्रोसेस

साइबरक्राइम इंटेलिजेंस हडसन रॉक के सीटीओ Alon Gal का कहना है कि चाहें डाटा कितने भी वर्ष पहले क्यों न लीक किया गया है लेकिन आज भी हैकर्स के लिए यह अत्यंत अहम जानकारी है। इनका गलत उपयोग किया जा सकता है। साथ ही यह भी कहा है कि जो डाटा हैकर्स के पास सर्कुलेट हो रहा है वो वही Facebook लिंक्ड फोन नंबर वाला डाटा है जनवरी माह से ही सर्कुलेट हो रहा था।

इस वर्ष जनवरी में करीब 42 करोड़ Facebook यूजर्स का डाटा लीक किया गया था। इसे ऑनलाइन बिक्री के लिए भी उपलब्ध कराया गया था। Facebook यूजर्स का यह डाटा टेलीग्राम एप के बॉट के जरिए लीक हुआ था। रिपोर्ट के मुताबिक, जो Facebook डाटा लीक किया गया है तो उसमें मौजूद मोबाइल नंबर की बिक्री 1,400 रुपये में की जा रही थी। इसी तरह से दूसरे डाटा की कीमत भी तय की गई थी।

Infinix Smart 5 Unboxing and Review: 7,199 रुपये वाले फोन में 6000mAh बैटरी

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here