IPL 2021: आर अश्विन और इयोन मोर्गन विवाद के लिए सहवाग ने दिनेश कार्तिक को ठहराया जिम्मेदार, खेल भावना का भी पढ़ाया पाठ

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.


भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने ओवर थ्रो के एक रन लेने पर खेल भावना को लेकर पनपे आर अश्विन और इयोन मोर्गन के बीच विवाद में दिनेश कार्तिक को दोषी बताया है। सहवाग के मुताबिक कार्तिक को मैदान पर जो हुआ उसको लेकर मीडिया के सामने मोर्गन का पक्ष नहीं रखना चाहिए था और मामले को महज हल्की नोंकझोंक बताकर टाल देना था। गौरतलब है कि मैच के बाद कार्तिक ने कहा था कि केकेआर के कप्तान को अश्विन का यह रवैया पसंद नहीं आया था और उनको यह खेल भावना के खिलाफ लगा। इस बात को लेकर अश्विन और मोर्गन बीच मैदान पर एक दूसरे से भिड़ गए थे और दिनेश कार्तिक को बीच-बचाव करना पड़ा था। 

पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने टी-20 में ठोका छठा शतक, विराट को पीछे छोड़ा, रोहित की बराबरी की

सहवाग ने ‘क्रिकबज’ के साथ बातचीत करते हुए कहा, ‘मैं इसमें दिनेश कार्तिक को सबसे बड़ा दोषी मानूंगा। अगर वह यह बात नहीं करते कि मोर्गन ने क्या कहा तो शायद इस तरह का बवाल नहीं खड़ा होता। अगर वह कह देते कि यह ज्यादा कुछ नहीं था और सिर्फ एक बहस थी और यह मैच में होती रहती है। क्या जरूरत थी सफाई देने की कि वह यह सोचते हैं और यह नहीं। जो मैदान के अंदर हुआ वो वहीं रह जाना चाहिए। अगर ऐसी ही चीजें मैदान के अंदर से बाहर आने लगीं तो मैं इस बात की गारंटी देता हूं कि हर मैच में इस तरह का कुछ बवाल होगा। खेल भावना यह भी कहती है कि जो मैदान के अंदर हुआ उसको वहीं रहना चाहिए और मूव ऑन कर जाना चाहिए।’

IPl 2021 KKR vs PBKS: आज आमने सामने होंगी कोलकाता नाइट राइडर्स-पंजाब किंग्स, ऐसी हो सकती है दोनों टीमों की प्लेइंग XI

सहवाग ने अश्विन का पक्ष लिया और कहा कि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया। वीरू ने कहा, ‘मुझे लगता है कि अश्विन ने सही किया। वह अपने राइड्स और गेम के लॉ के अंदर थे। उन्होंने कोई कानून बदला या तोड़ा नहीं है। अगर वह बीच में नहीं आते हैं तो वह दौड़ सकते हैं। मैंने भी ऐसा किया है।’ इस विवाद को लेकर अश्विन ने ट्विटर पर गुरुवार को अपना पक्ष रहा था। उन्होंने कहा था, ‘जब मैंने फील्डर को थ्रो करते देखा तो मैं दौड़ने के लिए मुड़ा और मुझे नहीं पता था कि गेंद ऋषभ को लगी थी। अगर मैं इसे देखता तो क्या मैं दौड़ता?  बेशक मैं यह करता और मुझे इसकी अनुमति है। क्या मैं मॉर्गन के कहने से खराब हो जाता हूं। ऐसा नहीं है।’ 
 

संबंधित खबरें



Source link

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.