UP और MP के वीडियो पश्चिम बंगाल में TMC कार्यकर्ताओं की गुंडई बताकर शेयर किये गए

0

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

सोशल मीडिया और मेसेजिंग प्लेटफ़ॉर्म व्हाट्सऐप पर कुछ वीडियोज़ शेयर किये जा रहे हैं. इन वीडियोज़ के साथ दावा किया जा रहा है कि पश्चिम बंगाल में टीएमसी कार्यकर्ता भाजपा कार्यकर्ताओं के परिवारवालों पर अत्याचार कर रहे हैं. पूरा मेसेज इस प्रकार है – “अभी बंगाल का हाल देखकर भी आंखें नहीं खुल रही तुम्हारी, ममता के दलालों ! टीएमसी वालो कुते की मौत मरोगे तुम…इस बेटी का बस इतना कसूर है – ये एक दलित हैऔर इसका भाई भाजपा का कार्यकर्ता है ।अब कहाँ है मीडिया ?”. वीडियोज़ की संवेदनशीलता को देखते हुए ऑल्ट न्यूज़ इन्हें आर्टिकल में शामिल नहीं कर रहा है.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ेसबुक पर भी इनमें से एक वीडियो शेयर किया गया है.


ऑल्ट न्यूज़ के मोबाइल ऐप पर इन वीडियोज़ की हकीकत जानने के लिए कुछ रीक्वेस्ट भी आयी हैं.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ैक्ट-चेक

हमने पाया कि लड़की की बेरहमी से पिटाई करने वाले 3 वीडियोज़ एक ही घटना से संबंधित हैं. की-वर्ड्स सर्च करने पर हमें कुछ न्यूज़ आर्टिकल मिले. 2 जुलाई 2021 की दैनिक भास्कर की रिपोर्ट में ये घटना मध्यप्रदेश में आलीराजपुर के फूटतालब की बताई गई है. आर्टिकल के मुताबिक, लड़की को पीटने वाले लोग उसके परिवारवाले ही थे और वो लड़की के बिना बताए मामा के घर चले जाने से नाराज़ होकर उसे मार रहे थे. आर्टिकल में लिखा है – “घटना ज़िला मुख्यालय से करीब 50 किमी दूर बोरी थाने के बड़े फुटतालाब गांव की है. गांव में रहने वाली नानसी (19) पिता केल सिंह की शादी पास के गावं भूरछेवड़ी में की गई थी. कुछ दिन पहले नानसी का पति मजदूरी करने के लिए गुजरात चला गया. वह पत्नी को ससुराल में ही छोड़ गया. इसी से नाराज होकर वह ससुराल में बिना बताए आंबी गांव में अपने मामा के यहां चली गई. यह बात नानसी के मायके वालों को पता चली. वह इस बात से बहुत नाराज थे. उन्हें लगा कि युवती घर से भाग गई है. वह उसे 28 जून को वापस फुटतालाब ले आए. इसके बाद इसी बात पर शाम करीब 5 बजे उसकी जमकर पिटाई की.”

2021 07 06 19 19 51 The girl went to Alirajpur without informing her maternal uncle on suspicion of

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, “इस मामले में बोरी थाने में प्राथमिकी 1 जुलाई की रात दर्ज कर ली गई है और उसके (पीड़िता के) भाइयों केलसिंह निनामा, कारम निनामा, दिनेश निनामा और उदय निनामा को आरोपी बनाकर उनके खिलाफ़ आईपीसी की धारा 355, 323, 294 और 506 के तहत कार्रवाई की गई है. चारों आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया गया है.”

मुरादाबाद पुलिस ने भी इस वीडियो के संबंध में एक बयान जारी कर इस घटना को मध्यप्रदेश की बताया है.

अब बात चौथे वीडियो की. इसमें आप सुन सकते हैं कि एक लड़का मझोला पुलिस द्वारा कारवाई न किये जाने की बात कह रहा है. ट्विटर पर शेयर किये गए इस वीडियो पर मुरादाबाद पुलिस ने जवाब दिया था. मुरादाबाद पुलिस के मुताबिक, ये घटना 13 जून को हुई थी जिसके संबंध में कार्रवाई कर आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया गया है.

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक, मझोला थाना क्षेत्र के लोदीपुर जवाहर नगर में रविवार सुबह मंदिर की चौखट पर एक महिला का शव का लटकता हुआ मिला था. इस मामले की सूचना पर पुलिस भी वहां पहुंच गई थी. रिपोर्ट में बताया गया है कि मृतका के ससुराल के लोगों ने दहेज के लिए उसकी हत्या कर शव गांव के बाहर बने मंदिर की जाली में लटका दिया था. रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि मृतका के मायकेवालों ने आरोपियों पर तत्काल कार्रवाई को लेकर हंगामा भी किया था. इसी रिपोर्ट में ये भी बताया गया था कि पुलिस ने मृतका के पिता की तहरीर पर पति समेत आठ लोगों के खिलाफ़ मुकदमा दर्ज कर लिया था.

ऑल्ट न्यूज़ ने इस घटना की पुष्टि करने के लिए थाना प्रभारी मझौला से बात भी की. उन्होंने बताया – “13 जून 2021 को सुबह लगभग 7-8 बजे श्रीमती रिंकी उम्र लगभग 23 वर्ष का शव थाना मझौला पुलिस चौकी खदाना क्षेत्र में चामुण्डा देवी मन्दिर के पास मिला. वो लोधीपुर विशनपुर थाना मझौला मुरादाबाद के निवासी दीपक की पत्नी और औरंगाबाद थाना पाकबडा मुरादाबाद रहनेवाले कल्लू सिंह की बेटी थी. रिंकी की शादी 1 मई 2021 को दीपक से हुयी थी. लड़की के परिवारवालों ने इस संबंध में थाना मझौला पर शिकायत दर्ज करवायी थी कि उनकी बेटी रिंकी को उसके ससुरालवाले दहेज के लिये परेशान करते थे और उन्होंने ही रिंकी की हत्या कर दी. इस सम्बंध में थाना मझौला पर तहरीर प्राप्त हो गयी थी और अन्य विधिक कार्रवाई चालू है.”

कुल मिलाकर, मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश की 2 अलग-अलग घटनाओं के वीडियो पश्चिम बंगाल के बताकर शेयर किये गये.


काशी विश्वनाथ मंदिर का वीडियो बताकर मणि मंदिर का वीडियो किया गया शेयर :

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.





Source link

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.